जानिये स्टीव जॉब्स में क्या था..

                जानिये स्टीव जॉब्स में क्या था-

Image result for steve jobs images
दोस्तों, स्टीव जॉब्स को खूबियों से भरा इंसान हम मान सकते हैं। उनमे ऐसे-ऐसे गुण ढूंढे गए हैं जो आप और हम सबके लिए बहुत प्रेरणादायी साबित हो सकते हैं। आइये देखते हैं उनमे क्या था-
§ स्टीव अपने काम से कभी भी संतुष्ट न होने वाले एक ऐसे व्यक्ति थे जिनमे हमेशा अपने काम के प्रति जूनून
देखने को मिलता था।  विजनरी, क्रियेटिव और जीनियस, सबको मोटिवेट करने वाले।
§ नामुनकिन को मुमकिन करने का साहस रखने वाले
§ काम के अलावा परिवार के प्रति लगाव रखने वाले। अंतिम समय में भी उनकी पत्नी और तीनो बच्चे उनके पास थे। स्टीव अपने पिता पॉल जॉब्स और बहन मोना को भी बहुत चाहते थे।
§ वह एक अच्छे दोस्त थे, उन्होंने कभी भी मुसीबत के समय अपने दोस्त का साथ नही छोड़ा
§ स्टीव जूनून, साहस और विश्वास का दूसरा नाम थे। एप्पल से निकाले जाने के बाद NeXT और PiXAR की सफलता इसका बहुत बड़ा उदाहरण है।
§ हमेशा दूसरों से अलग सोचना और उसे हकीकत बनाना। उनका तो नारा ही था Think Different.. वे जो भी सोचते थे लोग वहाँ तक सोच भी नही पाते थे।
§ छोटी से छोटी बात भी उनकी नजरों से बच नही पाती थीवह हर बटन, हर कॉर्नर देखते थे। पॉवर कार्ड के रंग और पैकेजिंग कार्ड बोर्ड के मामले में भी वह गलती नही करते थे, मेनू के फॉण्ट के चलते तो कभी कभी उनकी नींद तक उड़ जाति थी।
§ काम के प्रति इतना ज्यादा लगाव था कि उन्होंने अंतिम समय तक केवल तीन मेडिकल छुट्टियाँ लीं। बीमारी के समय भी हॉस्पिटल से एप्पल के कर्मचारियों को सन्देश भेजते थे कि मैं जल्दी ही वापस आने आ रहा हूँ।
§ वे एक साथ कई मोर्चों पर सोचते थे रिसर्च, मैनुफैक्चरिंग, कंज्यूमर्स जैसे कई मोर्चों से एक साथ जूझते थे
§ हर मुश्किल को चुनौती की तरह देखा, जिससे उनका सर्वश्रेष्ठ सामने आ सका
§ स्टीव बेहतरीन आविष्कारक और प्रवर्तक थे। उनमे पहल करने की क्षमता थी।
 उनकी पहल करने के कारण ही एप्पल की स्थापना हो सकी।
§ वो हमेशा दूर की सोचने में विश्वास रखते, वक्त से 50 साल आगे की सोचते थे। बहुत कम शब्दों में बताते थे कि आपको कैसा सोचना चाहिए?
§ उन्होंने वर्तमान में भविष्य को देखा और उसे साकार करने का साहस किया। गजब का आत्मविश्वास था इसलिए वो शुन्य से शिखर तक पहुचे..।
§ एप्पल के यूजर्स उनके लिए भगवान के समान थे। शायद यही कारण था कि वे अपने मेल पर आने वाले ग्राहकों से सवालों का जवाब स्वयं देते थे।
§ दुनिया के ऐसे सपूत थे जो हमेशा लीक से हटकर चले। जिसने कभी भीड़ का अनुसरण नही किया।
§ जॉब्स ज्यादा से ज्यादा उम्मीद करने वाले थे, वे हमेशा अपने कर्मचारियों से कहते थे कि 48 घंटों का काम 24 घंटों में करो और वो स्वयं दिन-रात मेहनत करने में लगे रहते थे ताकि उनका काम समय पर पूरा हो सके
§ उनके पास कभी दम न तोड़ने वाला भरपूर विश्वास था। जब सारी दुनिया मंदी के दौर से गुजर रही थी। उस समय जॉब्स कहते थे, मंदी कैसी मंदी? वे कहते थे एप्पल के प्रोडक्ट खरीदने के लोग लाइन में लगे हैं। फिर मंदी का सवाल ही नही उठता।
§ काम का अलग ही ढंग उन्होंने फोकस ग्रुप, ग्रुपथिंकिंग या अपनी कमेटी के फैसलों में अपने आपको कभी नही बाँधा। वे सब फैसला खुद ही लिया करते थे।
§ वह एक ऐसे सितारे थे जिसके पीछे पूरी आकाश गंगा घुमती थी.. वह अपने आपमें आकाश थे क्योंकि सब कुछ वे स्वयं में समेटे हुए थे।

दोस्तों स्टीव जॉब्स में ऐसी बहुत सारी खूबियां थी और शायद इसी वजह से एप्पल अपने आपमें एक मिशाल बने खड़ा हुआ है.. हमे स्टीव से बहुत कुछ सीखने को मिला है, आज भी वो हम सबके बीच में हैं, उनकी कही बातें हम कभी नही भूलेंगे.. हम प्रयास करेंगे कि स्टीव जॉब्स के जीवन परिचय के बारे में यहाँ एक आर्टिकल पब्लिश किया जाये.. §
Related Posts:-
(1.) स्टीव जॉब्स की पाँच बातें जो बदल सकती है आपकी दुनिया.
(2.) संदेह करोगे तोनही मिलेगी सक्सेस.
(3.) हार न मानिये,आगे बढिए और जीतिए.
(4.) आपका अधिकारसिर्फ कर्म करने पर है, फल की चाहत पर नही
(5.) बहाने बनानाछोड़िये, बर्बादी से नाता तोडिये..

Labels: , , , ,