मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर

                        मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर
Image result for sachin tendulkar images
क्रिकेट की ऊँचाइंयों को स्पर्श करने वाले महान बल्लेबाज संचिन रमेश तेंदुलकर भारत के ही नही वरन पूरे विश्व के लिए सम्मान के प्रतीक हैं। 24 अप्रैल 1973 को जन्मे संचिन रमेश तेंदुलकर को उनके जन्मदिन पर हमारी सफलता की पूरी टीम और सभी पाठकों की तरफ से बहुत-बहुत बधाई। भारत रत्न सचिन तेंदुलकर
के जन्मदिन पर उनके जीवन से जुङे कुछ रोचक तथ्य आप सबके साथ शेयर कर रहे हैं। अनेक कीर्तिमान बनाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर राज्यसभा के लिए मनोनीत होने वाले पहले सक्रिय क्रिकेटर हैं। बचपन में यदि सचिन नेट्स में पूरा सत्र बिना आउट हुए खेल लेते, तो उनके कोच रमाकांत अचरेकर उन्हें एक सिक्का देते थे. सचिन के पास ऐसे तेरह सिक्के हैं। सचिन शुरुआती दौर में तेज गेंदबाज बनना चाहते थे, लेकिन एमआरएफ पेस फाउंडेशन के तत्कालीन प्रमुख डेनिस लिली ने 1987 में उन्हें रिजेक्ट कर दिया था। 1987 जब सचिन 14 साल के थे तो उन्होने,  विश्वकप के दौरान वानखेड़े स्टेडियम में भारत और जिम्बाब्वे के बीच खेले गए मैच में 'बॉल-बॉय' की भूमिका को निभाए थे। 1988 में ब्रेबॉर्न स्टेडियम में खेले गए एक प्रैक्टिस मैच में सचिन तेंदुलकर ने पाकिस्तानी टीम के लिए सब्‍स्टीच्यूट के तौर पर फील्डिंग भी की थी। बचपन में सचिन तेंदुलकर अपने क्रिकेट के सामान के साथ सोया करते थे। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक करने वाले एकमात्र क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर अक्टूबर 1995 को सचिन सबसे अमीर क्रिकेटर बन गए थे। उन्होंने वर्ल्ड टेल के साथ 31.5 करोड़ रुपये का एक करार किया था। 19 वर्ष की अवस्‍था में सचिन तेंदुलकर काउंटी क्रिकेट खेलने वाले सबसे युवा खिलाडी बन गए थे। थर्ड अंपायर द्वारा आउट दिए जाने वाले पहले बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर हैं। भारत सरकार की तरफ से सचिन तेंदुलकर को भारत रत्न से अलंकृत किया गया है इसके अलावा राजीव गांधी खेलरत्न, अर्जुन अवॉर्ड और पद्मश्री जैसे सम्मान हासिल करने वाले वे एकमात्र क्रिकेटर हैं। सचिन तेंदुलकर ने अपना पहला रणजी ट्राफी मैच रवि शास्त्री की कप्तानी में खेला था। 1995 में सचिन तेंदुलकर नकली मूंछ-दाढ़ी और चश्मा लगाकर फिल्म 'रोजा' देखने गए थे, लेकिन सिनेमा हॉल में नकली साजो-सामान गिर गया और सभी ने उन्हें पहचान लिया। 1992 में सचिन सबसे कम उम्र में 1000 टेस्ट रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए थे। सचिन तेंदुलकर ने अपने पहले ही रणजी, दिलीप और ईरानी ट्राफी मैचों में शतक जड़ा था। पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला ही टेस्ट खेलते हुए सचिन ने जो पैड्स पहने थे, वो उन्हें सुनील गावस्कर ने भेंट किए थे।


§  सबसे ज़्यादा वन डे मैच खेलने का रिकार्ड (463 मैच)
§  वन डे मुक़ाबले में सबसे ज़्यादा रन (18,426 रन)
§  वन डे मुक़ाबले में सबसे ज़्यादा 49 शतक
§  वन डे क्रिकेट के इतिहास में दोहरा शतक लगाने वाले पहले क्रिकेटर
§  वन डे क्रिकेट में सबसे ज़्यादा मैन ऑफ द सीरीज
§  वन डे क्रिकेट में सबसे ज़्यादा मैन ऑफ द मैच
§  विश्व कप क्रिकेट मुक़ाबलों में सबसे ज़्यादा रन
§  विश्वकप में सबसे ज़्यादा शतक, अर्धशतक बनाने का रिकार्ड
§  1996 और 2003 विश्वकप में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज
§  टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज़्यादा 51 शतक

सबसे ज़्यादा टेस्ट मैच खेलने का रिकार्ड (200 मैच)
§  टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक रनों का कीर्तिमान (15,921 रन)
§  टेस्ट क्रिकेट में 13,000, 14,000 और 15,000 रन बनाने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज़
§  अंतरराष्ट्रीय मुक़ाबलों (टेस्ट, वनडे एवं टी-ट्वेंटी) में सबसे ज़्यादा रन बनाने का कीर्तिमान (कुल 34,357 रन)

क्रिकेट में अनेक कीर्तिमान बनाने वाले सचिन को घङिंयाँ और परफ्यूम इक्ठ्ठा करने का बहूत शौक है। सचिन तेंदुलकर किशोर कुमार और रॉक ग्रुप डायर स्ट्रेट्स के बहुत बड़े फैन हैं। विश्व के महानतम बल्लेबाज ने मुंबई के वानखेङे स्टेडीयम में अपना 200 वाँ टेस्ट मैच खेलकर 16 नवम्बर 2013 को अंर्तराष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास ले लिया। भारत को गौरव प्रदान करने वाले सचिन तेंदुलकर को उनके जन्म दिन पर बधाई संदेश के साथ उनका अभिनन्दन करते हैं।

सुगंधित हो सचिन जीवन तुम्हारा,
तारों की चमक सा हो हर पल तुम्हारा।
शुभ दिन ये आये जीवन में हजार बार,
और हम जन्मदिन की मुबारकबाद देते रहें बार-बार।

Related Posts:-
                                             
              ----पढ़ें एक से बढ़कर एक प्रेरणादायक हिंदी आर्टिकल्स----

Labels: , , ,