Mark Zukerberg Biography in Hindi

Image result for mark zuckerberg images            Mark Zukerberg Biography in Hindi

मार्क जुकेरबर्ग, ने दुनिया को एक बेहतरीन तौफा दिया जिसे लोग Facebook या FB के नाम से भी जानते हैं. फेसबुक एक Social Networking साईट है. जिसका उपयोग आज हर कंपनी के CEO अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग के लिए Facebook का Use करती है, कोई ऐसा आदमी नहीं होगा जो इंटरनेट Use कर रहा हो और उसका FB Account न हो!.

फेसबुक का उपयोग मार्केटिंग के लिए कैसे:- Facebook आज दुनिया भर में इंटरनेट पर सबसे ज्यादा Visit की जाने वाली दूसरी साईट है (No. 1 गूगल)
गूगल को सबसे ज्यादा समय देने के बाद लोग फेसबुक पर ही अपना समय बिताते हैं.. फेसबुक एक सोशल मीडिया है, जिसमें अरबों लोग हमेशा एक्टिव रहते हैं.. किसी भी कंपनी के लिए अपने user तक पहुँचने का Facebook एक सबसे अच्छा माध्यम है.

फेसबुक को बनाया किसने:- मार्क जुकेरबर्ग ही वो नौजवान हैं जिन्होंने फेसबुक की स्थापना की है, Mark Zukerberg ही Facebook के CEO (Chief Executive Officer) और अध्यक्ष हैं..
Mark Zukerberg (मार्क जुकेरबर्ग) का पूरा नाम मार्क एलियट जुकेरबर्ग है. इनका जन्म वाईट प्लेन्स न्यूयार्क (अमेरिका) में 14 May 1984 को हुआ था. मतलब आज 15 June 2015 को मार्क की आयु होगी- वर्ष-31, माह-01, दिन-01 मतलब (31 वर्ष 01 महीना 01 दिन..) उनके पिता का नाम एडवर्ड जो कि एक डेंटिस्ट और मनोचिकित्सक माँ केरन व तीन बहनों के साथ मार्क जुकरबर्ग भी यहूदी संस्कारों के साथ 13 साल तक बड़े हुए.. बाद में वे नास्तिक हो गए.. मार्क ने स्कूली शिक्षा के दौरान साइंस, मैथ्स, एस्ट्रोनामी, फिजिक्स में बहुत से अवार्ड जीते हैं..

फेसबुक की स्थापना कब हुई:- Facebook की स्थापना 4 फरवरी 2004 को की गई थी, मार्क ने जब इसे बनाया तो उन्होंने खुद भी नहीं सोचा था कि फेसबुक इतनी ज्यादा पॉपुलर हो जायेगी.
फेसबुक के निर्माण का श्रेय अकेले मार्क को देना गलत होगा क्योंकि उनके तीनों साथी डस्टिन 
मोस्कोवित्ज़,  क्रिस हुग्हेस और एडुँर्दो सवेरिन  जो उस वक्त हावर्ड के स्टूडेंट थे और साथ ही नियमित पढ़ने के लिए हावर्ड जाया करते थे, सबने  Facebook (FB) के शुरूआती दौर से ही मार्क का साथ दिया..
एक छोटे से हॉस्टल के कमरे से शुरू किया गया उनका यह सफर लाजवाब रहा. मार्क के पापा उन्हें एक वकील बनाना चाहते थे लेकिन उनका रुझान बचपन से ही प्रोग्रामिंग में था इसलिए जब उन्होंने अपने पापा से कहा कि वो प्रोग्रामिंग सीखना चाहते हैं तो उनके पापा ने घर में ही मार्क के लिए एक बहुत ही अच्छे प्रोग्रामर को प्रोग्रामिंग सिखाने के लिए Request किया और यहाँ से वो प्रोग्रामिंग सीखने लगे.. इसी के बदौलत उन्होंने अपने पापा के लिए एक सॉफ्टवेयर भी बनाया था जिसके माध्यम से वो अपने पापा से ऑनलाइन बात कर पाते थे.. प्रोग्रामिंग में उनका रुचि इस कदर बढ़ा कि उसका परिणाम Facebook के जरिये हमारे सामने है..
Facebook को जब Publicly Launch नहीं किया गया था तब यह The Facebook.com के नाम से यह प्रचलित था लेकिन जब इसे Launch किया गया तब से आज तक यह facebook.com से विश्व भर में प्रसिद्ध होकर प्रगति से शिखर पर आगे बढ़ रहा है.. वे अपने सफलता का श्रेय हैकिंग को भी बताते हैं. ‘द हैकर वे’ नामक प्रसिद्ध आर्टिकल में उन्होंने बताया है कि किसी भी वेबसाइट के बारे में हम बेहतर से बेहतर जानकारियां प्राप्त करते थे, एजेंसियों की बेहतर जानकारी प्राप्त करने के लिए हैकिंग अच्छा माध्यम हो सकता है, और इसके माध्यम से फेसबुक को काफी फायदा भी मिला यह एक कारण है जो हमारी सफलता का अच्छा माध्यम बना.. इतनी छोटी उम्र में ये काम करना वाकई काबिल-ए-तारीफ़ है क्योंकि उन्होंने FB Launch किया तब वे सिर्फ 19 साल, 07 महीने, 06 दिन के थे.. मतलब हम कह सकते हैं कि बीस साल की उम्र में उन्होंने कितनी बड़ी शुरूआत की थी.. और आज की तारीख में उन्हें FB का भार संभाले साढ़े ग्यारह महीने हो चुके हैं..
जब मार्क को लगा कि फेसबुक के बारे में सबको बताना चाहिए तब अपने तीनो साथियों के साथ अपने क्षेत्र के सभी स्कूलों में जा-जाकर उसका प्रचार करने लगे क्योंकि उन्हें पता था कि आज की दुनिया में जब तक आप स्वयं की मार्केटिंग नहीं करेंगे तब तक किसी भी क्षेत्र में सफलता नहीं मिल सकती और आज वही फेसबुक जो कल तक अपना मार्केटिंग स्कूलों के माध्यम से करती थी.. आज वह मार्केटिंग फील्ड की सबसे बड़ी साईट बन चुकी है और कई कम्पनियाँ करोड़ों खर्च करके FB के through मार्केटिंग कराती हैं.. सॉफ्टवेयर और प्रोग्रामिंग की दीवानगी हावर्ड में भी उन्होंने जारी रखा इसी कारण ही पढ़ाई पूरी करने के पहले ही उन्होंने 2004 में फेसबुक का निर्माण कर लिया..
2012 में उन्होंने Priscilla Chan (प्रिसिला चान) के साथ शादी कर ली अब उनकी पत्नी भी उनके सारे काम में अपना सहयोग देती हैं.. मार्क बचपन से ही कुछ नया करने में रुचि रखते थे. उन्हें पता था कि एक दिन वो सबसे ऊंचे मुकाम तक पहुंचकर ही दम लेंगे इसी जोशपूर्ण विश्वास ने उन्हें आज दुनिया के सबसे Youngest अरबपति की लिस्ट में शामिल किया है..

Mark ने कितने पैसे कमाए होंगे:- आप सबको जानकर हैरानी होगी कि तीन लोगों से मिलकर शुरू किया गया यह फेसबुक का सफर अब तक 10,082 कर्मचारियों में बदल चूका है. इतने कर्मचारी वाली फेसबुक 2491 अरब रूपये की कुल संपत्ति और 772 करोड़ रूपये वर्ष 2014 का राजस्व.

भविष्य में आप गूगल पर Mark Zukerberg Biography in Hindi. यह  Keyword Search करके HamariSafalta.Com के इस पेज पर पुनः आ पाएंगे !!!
                                                                                      धन्यवाद!

                            --------- क्यों बचें Facebook से? 7 Reasons-------




Related Posts:-
                                           
              ----पढ़ें एक से बढ़कर एक प्रेरणादायक हिंदी आर्टिकल्स----

Labels: , , , ,