Blogging.... क्या क्यों कैसे?

Hello Friends, बहुत दिनों बाद ‘हमारी सफलता’ पर वापिस आ रहा हूँ इतने दिन तक पोस्ट न कर पाने के लिए मैं माफ़ी चाहता हूँ..

कई लोग हमें रेगुलर अपने चैट बॉक्स के द्वारा, ई-मेल के द्वारा, फीडबैक के द्वारा बहुत सारे प्रश्न, सुझाव, और अपना मत इस साईट के लिए रखते आ रहे हैं. पर ज्यादातर लोगों के प्रश्नों का जवाब ही हम नहीं दे पा रहे थे, चाहे वो ब्लोगिंग के सम्बन्ध में हो, जैसे- क्या ब्लोगिंग को बतौर करियर के रूप में देखा जा सकता है? ब्लोगिंग से किस तरह से कमाया जा सकता है? हम ब्लॉग बनाकर क्या सिद्ध करना चाहेंगे, क्या इससे जिंदगी चल जायेगी? या चाहे वो अपनी प्रोफेशनल लाइफ के बारे में हो, जैसे- हम अपने जीवन में कैसे आगे बढ़ सकते हैं? हम किस तरह कामयाब हो सकते हैं? वो कौन-सी चीजें हैं जो हमें पीछे धकेल रही हैं? क्या कोई प्रेरणादायक हिंदी साईट किसी की जिंदगी बदल पायेगी? इस दुनिया में सफल बनने के लाखों सूत्र मौजूद हैं पर क्यों कोई बार-बार असफल होता है? हम अपने एक्साम में अच्छा क्यों नहीं कर पाते?
बहुत से लोग जो अपनी लाइफ के उलझन में हैं उनके बहुत सारे मैसेज हमारे पास मौजूद हैं पर हम सभी से माफ़ी चाहते हैं कि हम उन्हें समय नहीं दे पाए... पर आज इस पोस्ट में मैं ब्लोगिंग सम्बंधित कुछ जानकारियां सभी रीडर्स के साथ शेयर करना चाहूँगा और इसी उम्मीद में यह पोस्ट आगे लिखा जा रहा है जिससे बहुतों को उनके जवाब आसानी से मिल जायें...
ज्यादातर लोग हमसे क्या पूछते हैं!

सवाल:- आप अपने ब्लॉग पर नियमित पोस्ट क्यों नहीं लिखते?
जवाब- मैं एक स्टूडेंट हूँ, पढ़ाई (बी.सी.ए.) चल रही है.. पर अब मैं लगभग अपना फुल टाइम एक लेखक और ब्लोगर के रूप में देने वाला हूँ, इसकी शुरूआत हमने कर दी है. कुछ दिन पहले ही हमने कॉलेज के आस-पास एक रूम, रेंट पर लिया है, पहले हम 2G/3G पर काम कर रहे थे पर ब्लॉग बनवाने के ऑर्डर को ध्यान में रखकर और बहुत सारे पेंडिंग ऑर्डर को पूरा करने के लिए एक broadband connection हमने लिया है और अब से आपको नियमित पोस्ट अपडेट होता नजर आएगा..
सवाल:- ब्लोगिंग कहीं पढ़ाई में रूकावट तो पैदा नहीं कर रही?
जवाब- नहीं! ऐसा बिलकुल भी नहीं है.. क्योंकि हमारा विषय तकनीकी ही है, और मेरा अनुभव कहता है कि ब्लोगिंग के लिए कुछ तकनीकी ज्ञान की आवश्यकता होती है और इसी कारण पढ़ाई में रूकावट कभी नहीं आती.. लेकिन जो रीडर एक कस्टमर के रूप में इसे पढ़ रहे हैं उन्हें हम बता दें कि ब्लोगिंग करना फेसबुक पर पोस्ट लिखने के बराबर ही है, और तकनीकी शब्द का इस्तेमाल सिर्फ साईट को डिजाइन करने के लिए कहा गया है...


सवाल:- हम ब्लॉग क्यों बनाएँ? इससे क्या फायदा है?
जवाब:- ब्लॉग, अपने विचारों को सिर्फ लोगों तक पहुँचाने का ही एक माध्यम नहीं है, ब्लॉग अपने अंदर के टैलेंट को सामने लाने का एक बहुत बड़ा माध्यम है. चाहे वो कंटेंट ब्लॉग के द्वारा हो या फिर विडियो ब्लॉग के द्वारा. सरल शब्दों में कहूँ तो खुद को लोगों से जोड़ने का सबसे अच्छा माध्यम सिर्फ और सिर्फ खुद का अपना ब्लॉग/वेबसाइट है.
लोगों को जब तक किसी चीज में फायदा नजर नहीं आता, वो उस काम को बेकार समझने लग जाते हैं. साधारण-सा उत्तर देना चाहूँगा कि यदि ब्लॉग से कुछ फायदा नहीं होता तो मैं क्यों अपना समय HSC पर देता. मैंने यह ब्लॉग सिर्फ इसलिए ही बनाया था कि मुझे अपनी किताब पब्लिश करने से पहले लाखों-करोड़ों लोगों तक पहुंचना है और सोच हकीकत में तब्दील हो गयी. न सिर्फ HSC के कारण बल्कि (AchhiKhabar.Com) AKC के कारण भी.. लेकिन मैंने सिर्फ ब्लॉग के माध्यम से लोगों को फायदा पहुँचाने के बारे में सोचा था और सबसे बड़ा रहस्य यह भी है कि यदि आप दूसरों की भलाई के बारे में सोचते हैं तो अपना भला स्वयं हो जाता है.. मतलब लोगों को फायदा पहुँचाने के लिए Content create कीजिये यकीनन आपको हर तरह से फायदा होगा...


सवाल:- हम ब्लॉग से कैसे और कितना कमा सकते हैं?
जवाब:- ये आपकी धैर्य और मेहनत पर डिपेंड करता है, कई लोगों का कहना होता है कि क्या ब्लॉग बनाते ही अर्निंग शुरू हो जाती है?, मैं पूछना चाहूँगा कि क्या हम धान बोने के बाद बिना फसल तैयार हुए उसे काटने का सोचते हैं... नहीं! इसके लिए हमें नियमित फसल तैयार होने तक का इंतजार करना होता है, जब तक फसल बड़ा न हो जाये उसे खाद देना रहता है, उसमें नियमित पानी सींचना रहता है. और जब फसल अच्छी तरह से पक जाए उसे तभी काटना रहता है... तब जाकर हमारी मेहनत रंग लाती है. किसी भी चीज में तुरंत परिणाम नहीं मिलते. इसलिए धैर्य रखना बहुत ही आवश्यक होता है.
कोई भी कंपनी, कोई भी अखबार, कोई भी टी.वी. चैनल किस तरह से कमाते हैं! बहुत कम लोगों को इसकी जानकारी रहती है, उन सबकी कमाई का जरिया विज्ञापन मतलब Ads होते हैं.. जब हम कोई अखबार हाथ में लेते हैं तो उसमें कई सारे बैनर्स अलग-अलग तरह से अखबार पर अपना विज्ञापन करते नजर आते हैं और इन्हीं विज्ञापनों से अखबार को फायदा पहुँचता है और अखबार के आर्टिकल्स के हम पाठकों को फायदा पहुँचता है.. मतलब सबका सिद्धांत यही है कि यदि आप दर्शक, पाठक और सामने वाले को किसी भी तरह से फायदा पहुंचा रहे हैं तो आपको भी फायदा मिलने वाला है...
साधारण शब्दों में कोई भी वेबसाइट, ब्लॉग, विडियो चैनल, विज्ञापन के माध्यम से ही कमाई करते हैं. मतलब Ads ही किसी साईट पर कमाने का सबसे बड़ा जरिया है...
भारत में बहुत से ब्लोगर्स हैं जो हर महीने अपनी साईट से लाखों कमाते हैं और अमित अग्रवाल जो इंडिया के टॉप के ब्लोगर हैं उनकी महीने की कमाई 50 लाख के करीब है... मतलब आपने धैर्य के साथ नियमित अपने ब्लॉग पर अच्छे से काम किया तो आपकी कमाई किसी बड़े जॉब से दस गुना ज्यादा होगी..


सवाल:-  ब्लॉग क्यों बनाएँ? सबसे बड़ा कारण!
जवाब:- मैं रायगढ़ (छ.ग.) का रहने वाला हूँ. अब यदि मुझे अपने एरिया में मेरे खुद के किसी प्रोडक्ट की विज्ञापन करनी है तो मैं उस विज्ञापन को उस जगह पर लगाऊंगा जहाँ बहुत से लोग गुजरते हैं.. सपोस मैंने अपना विज्ञापन घड़ी चौक पर लगाया जहाँ सबसे ज्यादा ट्राफिक होती है, ताकि लोग जब वहाँ से गुजरें तो उनकी नजर उस एड पर पड़ेगी और जिसे उस प्रोडक्ट की जरूरत होगी वह फ़ौरन हमसे संपर्क करेगा... लेकिन मैंने वह विज्ञापन रायगढ़ (छ.ग.) के किसी कोने में लगाया है उसे वहाँ से गुजरने वाला व्यक्ति ही देख सकता है... लेकिन उसे गुजरात/बिहार/मध्यप्रदेश या हमारे राज्य के किसी अन्य कोने में बैठा आदमी तो नहीं देख सकता. Same यदि मैं कोई विज्ञापन किसी News Paper के माध्यम से Promote कर रहा हूँ तो उस अखबार को उस क्षेत्र के लोग ही देखेंगे जहाँ तक अखबार पढ़ा जाता है, उसे दूसरे स्टेट या दूसरे देश का आदमी तो नहीं देख सकता...
लेकिन यदि आपके स्वयं का कोई ब्लॉग या वेबसाइट है तो उसे कोई भी, कहीं से भी विजिट करके देख सकता है.. मतलब ब्लॉग एक ऐसा माध्यम है जिसमें ट्राफिक की कोई सीमा नहीं रहती, करोड़ों लोग एक ही समय में आपके ब्लॉग पर उपस्थित हो सकते हैं... और आपकी साईट पर लगे विज्ञापन को देख सकते हैं और उसका फायदा ले सकते हैं...
ब्लॉग बनाने का उत्तर साफ़ है आप न सिर्फ अपने टैलेंट का ट्राफिक बढ़ा सकते हैं बल्कि अपने विज्ञापन के लिए कस्टमर का ट्राफिक भी बढ़ा सकते हैं...



सवाल:- विज्ञापन कहाँ से आयेंगे? गूगल एडसेंस क्या है?
जवाब:- सबसे पहले गूगल एडसेंस के बारे में जानते हैं.. एडसेंस गूगल की एक फ्री एड सर्विस है जो हमारे ब्लॉग पर मुफ़्त विज्ञापन दिखाने की सेवा प्रदान करती है लेकिन यह एक Pay per Click (PPC) Google की Free Service है मतलब गूगल एडसेंस पर दिखने वाले Ads पर जब कोई Reader click करता है उसके according Google हमें Paid करता है... मतलब एडसेंस एड पर क्लिक करने से हम दूसरों की वेबसाइट पर Refer किये जाते हैं और उसी के हमको पैसे मिलते हैं, अधिकांश लोगों का यह प्रश्न रहता है कि गूगल किस माध्यम से हमें पेमेंट करता है, कल तक जवाब था चेक के माध्यम से लेकिन अब गूगल आपके बैंक अकाउंट में पैसे जमा कर देता है लेकिन जब एडसेंस के खाते में 100 डालर्स मतलब लगभग 6000 रूपये जमा हो जाते हैं तब वह आपके द्वारा तय किये गए निर्धारित Date पर पैसे आपके अकाउंट में जमा कर देता है... वैसे बहुत सारे PPC Ad Networks हैं लेकिन गूगल एडसेस सबसे अच्छा माना जाता है लेकिन उसके नियम और शर्तें बहुत स्ट्रिक्ट रहती हैं जिनका बखूबी पालन करने पर ही एडसेंस के विज्ञापन आपकी साईट पर शो होंगे..
खुद के प्रोडक्ट का विज्ञापन आप अपने ब्लॉग के माध्यम से generate करके भी बहुत अच्छा कमा सकते हैं.. Ads के लिए आप Affiliate System भी उपयोग कर सकते हैं..



सवाल:- आपके ब्लॉग पर एडसेंस का एड क्यों नहीं दिखता?
जवाब:- मुझे पहले इस बात की जानकारी नहीं थी कि गूगल एडसेंस कैसे काम करता है और किन भाषाओँ में सपोर्ट करता है और शुरू से ही हमारा फोकस रीडर्स पर और साईट डिजाइनिंग पर था.. जल्दबाजी में हमने बिना यह जाने कि गूगल एडसेंस हिंदी लैंग्वेज पर सपोर्ट नहीं करता एडसेंस के लिए अप्लाई कर दिया, और हमने दूसरे अकाउंट से भी ट्राई किया पर शायद एडसेंस अकाउंट हमारा ब्लोक हो चूका था इसलिए इन छोटी-छोटी गलतियों को नजरंदाज करना मेरे लिए बहुत बड़ी गलती साबित हुई...



सवाल:- तो क्या अब एडसेंस एड आपके ब्लॉग पर नहीं दिखेंगे?
जवाब:- नहीं! एडसेंस के विज्ञापन हमारे ब्लॉग पर अब तभी दिखेंगे जब हम अपनी दूसरी साईट का fully approvel adsense account का Ad code अपनी साईट पर लगाएंगे.. इसलिए आप मुझसे एक और ब्लॉग की अब उम्मीद कर सकते हैं.. ये ब्लॉग हिंदी तकनीकी ज्ञान पर आधारित रहेगा... जिसके लिए जल्दी से जल्दी काम शुरू करने की तैयारी की जा रही है....



सवाल:- आपका फ्री ई-बुक कब रिलीज होगा साईट पर?
जवाब:- हमने सभी मेल सब्सक्राइबर्स को फ्री ईबुक देने का वादा किया था, लगभग सब तैयारी भी हो चुकी थी लेकिन बार-बार कॉलेज एक्साम्स और बाकि चीजों में ध्यान हमेशा बंटता रहा, लेकिन अब हम जल्दी से जल्दी इस पर काम करने वाले हैं, Special thanks to Rajni क्योंकि वो ईबुक के लिए हमारे साथ बहुत काम कर रही हैं..  जल्दी से जल्दी HSC के मेल सब्सक्राइबर्स को इन सबका लाभ मिलने वाला है..



सवाल:- आप कमेंट्स का जवाब क्यों नही देते?
जवाब:- कई लोग मुझे मेल करके बताते हैं कि आपके पास इतना समय नहीं कि कमेंट्स के रिप्लाई में एक थैंक्स भी न लिख सकें! ये सच है कि जो लोग कमेंट्स करते हैं वो हर दिन उसी पेज पर बार-बार विजिट करते हैं और अपने कमेन्ट सेक्शन में देखते हैं कि जवाब आया कि नहीं!
बहुत लोगों के कमेन्ट अप्रूव करने में हमें देरी हो जाती है, और वो रिप्लाई न देखकर थोड़े नाखुश हो जाते हैं... पर मैं सभी के कमेंट्स के लिए दिल से धन्यवाद देता हूँ, वो सभी जो इस ब्लॉग को इतना प्यार करते हैं उनका आभार व्यक्त करता हूँ... और अब से हम कोशिश करेंगे कि ज्यादा से ज्यादा कमेंट्स, मेल इन सबका जल्दी से जल्दी जवाब दे सकें...



सवाल:- आप SEO और HSC के Design को बेहतर क्यों नहीं बनाते?
जवाब:- HSC पर हम समय बहुत ही कम दे पाते थे क्योंकि मेरा Main मकसद किताब लिखना ही था, लेकिन अब मैं HSC को बेहतर बनाने की कोशिश में हूँ, पहले हम इसे नोर्मल डिजाइन पर रखे हुए थे पर अब हमने डिजाइनिंग चेंज कर दी, शायद अब आपको थोड़ा प्रोफेशनल लुक नजर आ रहा होगा! मोबाइल वर्जन किसी भी ब्लॉग के लिए बहुत बड़ी Factor मानी जाती है, क्योंकि आजकल ज्यादा ट्राफिक मोबाइल से ही आता है... इसी को ध्यान में रखकर हमने साईट के लुक को चेंज कर दिया और अभी भी इसमें बहुत काम बचा हुआ है...
रही बात SEO की तो अब हम HSC पर बहुत ज्यादा फोकस करना वाले हैं, उसके Alexa rank में भी आपको जल्दी बदलाव नजर आएगा... गूगल सर्च पर भी आपको जल्दी शिकायत नहीं आएगी...



सवाल:- क्या हिंदी ब्लॉग सफल हो पायेगा?
जवाब:- बिलकुल, शत् प्रतिशत! क्योंकि हिंदी में कंटेंट की मारा-मारी चल रही है... हिंदी में स्कोप बहुत बड़ा है, हिंदी का भविष्य बहुत उज्जवल है.. ज्यादातर गूगल सर्च रिजल्ट पर अभी भी अंग्रेजी के ही कंटेंट देखने में आते हैं... और अंग्रेजी की तुलना में हिंदी में प्रतियोगिता बहुत ही कम है....

ऐसे सैकड़ों सवाल हमारे प्रतिनिधि आदित्य साहू जी के पास हमारे इस नम्बर 08120166861 पर कॉल आते रहते हैं, Thanks Aditya क्योंकि एक दिन में 50-60 Calls मायने रखती है, उन सबको सभी जानकारियां समझाना, उन्हें गाइड करना बहुत मुश्किल काम रहता है... आप अपना इतना बड़ा योगदान दे रहे हैं इसके लिए बहुत-बहुत धन्यवाद!

Friends, मैं इस एक पोस्ट के माध्यम से ही सभी जानकारियां एक साथ शेयर नहीं कर सकता, और आपके जितने प्रश्न Self Improvement से Related हैं उन सबसे सम्बंधित बेहतरीन पोस्ट आज से नियमित आपको hsc पर पढ़ने को मिलेंगी.. और आप भी अपना कीमती सुझाव, अपना प्रश्न हमें Live chat, Feedback या हमारी मेल hamarisafalta@gmail.com पर Send कर सकते हैं...
यह एक सुनहरा अवसर है, इसे हाथ से जाने मत दीजिए, अपने अंदर के टैलेंट को पहचानिये उसे दुनिया के सामने लाने का प्रयास कीजिये... यकीनन आप अपने काम में सफल होंगे, बस धैर्य रखिये क्योंकि सब्र का फल बहुत मीठा होता है... और आज की तारीख में ब्लॉग ही वह माध्यम है जो आपकी अलग पहचान बनाने में आपकी हेल्प करेगा, इसलिए आज ही आप भी अपना हिंदी ब्लॉग बनाएँ क्योंकि हिंदी में स्कोप बहुत है और प्रतियोगिता बहुत कम है... अपना ब्लॉग बनाएँ, पहचान बनाएँ और पैसे बनाएँ...

                                                                धन्यवाद!

यदि आप अपना हिंदी ब्लॉग या वेबसाइट बनवाना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें

Labels: , , ,