भाषण के पूर्व अभ्यास के सरल तरीके speech preparation tips in hindi

दोस्तों, गणतंत्र दिवस आने वाला है और इस अवसर पर हमारे पास बहुत सारे Request आये हैं कि स्पीच के पहले किस टाइप से तैयारी करनी चाहिए कि श्रोतायें आपकी तालियों से हौसला अफ़जाई करें.. यह पोस्ट विशेष रूप से उन लोगों के लिए लिखा जा रहा है जो आज या कल स्टेज पर जाकर अपने भाषण से लोगों को दिल जीतना चाहते हैं...

यदि आप स्टेज पर पहली बार जाने वाले हैं या एक नये स्पीकर हैं तो आप अपने भाषण के Starting, Middle (मध्य) और End के Part को अच्छे से डिजाईन कर लीजिए... अब आपने एक अच्छा भाषण तैयार कर लिया है...
स्टेज पर जाकर स्पीच देने से पहले कुछ बातों का हमेशा ध्यान रखें-
·         भाषण की तिथि से कुछ दिन पहले से ही इसके लिए प्रेक्टिस शुरू कर दें.. इससे आपको अपनी गलतियाँ सुधारने के लिए काफी टाइम मिलेगा और आप रोजमर्रा के कार्यों में भी अपना ध्यान लगा पायेंगे...
·         अपने भाषण को उसी तरह से लिखें जिसे आप सबके सामने खड़े होकर बोलना चाहते हों! भाषण को हमेशा विस्तार से लिखें ताकि आपके मुँह से सही शब्द ही बाहर निकलें...
·         भाषण को कभी भी मन में अभ्यास न करें. हमेशा बोलकर ही स्पीच की तैयारी करें.. याद रखिये आपका छोटा-सा कमरा ही आपका मंच है, और आपके सभी फ्रेंड्स, और फैमिली मेम्बर आपके श्रोता हैं...
·         शुरूआती दौर में अपने हाव-भाव पर नहीं, बल्कि सिर्फ अपने भाषण पर ध्यान दें.. हर बार अपने स्पीच का End करके ही रिहर्सल करे...

पॉकेट कार्ड का प्रयोग करें-
·         भाषण के दो-तीन दिन पहले छोटे पॉकेट कार्ड बनाइये.. ये कार्ड लगभग 3x5 इंच के बनाये जाते हैं ताकि ये आपकी हथेली में फिट हो सके...
·         इन पॉकेट कार्ड की क्रम से नम्बरिंग कर लें..
·         मोटे-मोटे अक्षरों में आप इन पर मुख्य टॉपिक को सीरियल नम्बर से लिख लें..
·         यदि आप भाषण के समय कुछ भी भूल गए तो ये पॉकेट कार्ड आपके लिए संकटमोचन का कार्य करेंगे..
·         यदि आपको सिर्फ टाईटल भी याद आता गया तो आप अपनी स्पीच को बिना रुके बोल पायेंगे..
·         यदि आपका यह पहला भाषण हो तो आप अपने पॉकेट कार्ड में मुख्य बिंदु के साथ कुछ उपबिंदु भी लिख सकते हैं..
·         भाषण के 2-3 दिन पहले पूरा अभ्यास पॉकेट कार्ड की सहायता से करना चाहिए..

अपने आवाज को रिकॉर्ड करते हुए अभ्यास करें:-
·         अपने स्पीच को रिकॉर्ड करें जिससे आपको पता चलेगा कि आपके उच्चारण में कितनी गलतियाँ हैं और आप इसे सुधार पायेंगे..
·         आपको पता चलेगा कि आप अपने आवाज में कितना उतार-चढ़ाव ला रहे हैं.. या आप एक सुर में बोल रहे हैं या नहीं इसकी जानकारी होगी..
·         आप बहुत जोर से या तेज आवाज में तो नहीं बोल रहे हैं!

जो भी मिस्टेक आपको अपने रिकॉर्डिंग में नजर आएगी उसे आप सुधार सकते हैं जिससे मंच के सामने आप बेहतर प्रदर्शन कर सकें..

हाव-भाव का करें अभ्यास:-
·         किताब को पढ़ने या रटने जैसा न बोलें.. पूरे दिल से स्पीच दें जिससे आपके हाव-भाव स्वयं ही स्पष्ट होते चले जायेंगे..
·         ज्यादा से ज्यादा सहज रहें... हाव-भाव के चक्कर में कृत्रिम न बने..
·         आइने के सामने ज्यादा अभ्यास करने से आपके अंदर बनावटी बातें पैदा हो जाती हैं इसलिए बहुत ज्यादा आईने के सामने भी अभ्यास न करें..

भाषण के एक दिन पहले क्या करें?
·         पॉकेट कार्ड का Use करते हुए स्पीच की Final रिहर्सल कर लें..
·         प्रेक्टिस ऎसी करें जैसे आपको हजारों श्रोता सुन रहे हैं और आप ऐसी कल्पना के साथ अभ्यास करें कि जैसे ही आप अपनी स्पीच समाप्त करेंगे लोग तालियों से आपके भाषण की तारीफ करेंगे..
·         यदि आपके पास खुद का विडियो कैमरा है तो आप उसके सामने एक बार जरूर प्रेक्टिस करें ताकि आपकी सभी गलतियाँ आप स्वयं देख सकें और उसे सुधार सकें..
·         प्रेक्टिस के ये स्टेप शुरूआत में आपको थोड़े लंबे जरूर लगेंगे लेकिन जैसे-जैसे आपका एक्सपीरियंस बढ़ता जायेगा ये प्रेक्टिस उतने ही शोर्ट होते चले जायेंगे...

दोस्तों इतना सब करने के बाद आप 80% जंग तो जीत ही चुके हैं और आपकी अच्छी प्रस्तुति निश्चित है.. इसलिए आज से ही भाषण की तैयारियां शुरू कर दें और अपना बेस्ट देकर आयें...
                                                                 All the Best...

                                                                        धन्यवाद!

                  ------Successful Speaker के 7 गुण----

Related Posts:-

1. हार न मानिये आगे बढिए और जीतिए.
2. बिटिया ने बताया जीवन का मूल-मंत्र
3. इंटर कास्ट मैरिज- सही या गलत 
4. 2014 के 14 स्पेशल वादे
5. 2014 के आखिरी दीं 14 सवाल आपके लिए



                       ----पढ़ें एक से बढ़कर एक प्रेरणादायक हिंदी आर्टिकल्स----         

Labels: , , , , ,