Relationship को बेहतर बनाने के लिए 5 Love Languages

                                          THE 5 LOVE LANGUAGES IN HINDI

नमस्कार दोस्तों,
एक आदमी जो बहुत अमीर था, लेकिन वह फिर भी कभी खुश नहीं दिखता था. ये देखकर एकदिन Author ने उससे पूछ लिया, कि तुम्हारे पास तो Basically सब कुछ है फिर तुम क्यों ऐसे Sad और Tension में दीखते हो?
तब उस आदमी ने कहा- ये लग्जरी कार, बंगलो, पैसे होना क्या फायदे का!  जब मेरी Wife और मेरी Family ही मुझसे प्यार नहीं करती..
इंसान की जो सबसे डोमिनेटिंग इमोशन्स हैं - Love & Fear.. और हमारा Personally मानना है कि Love की Feeling, Fear से ज्यादा Powerful होती है..
प्यार एक कमजोर इंसान को इतना Powerful बना सकता है कि वह अकेला पहाड़ तोड़कर उसमे से रास्ता बना दे..
और दूसरी ओ़र से Healthy अमीर इंसान को इतना कमजोर बना दे कि वह खुद के हाथ से खुद का खाना तक न खा सके..
हर इंसान को अपनी लाइफ में प्यार की बहुत ज्यादा जरूरत होती है.. भले ही आपके पास सब कुछ हो लेकिन आपको कोई प्यार करने वाला नहीं होगा तो यह दुनिया आपको बेकार लगेगी.. और भले ही ये बात हम बोलें या न बोलें लेकिन हम सब अंदर से यह चाहते हैं कि हमें at least हमारे लाइफ के कुछ खास लोगों से बहुत सारा प्यार मिले..जैसे - अपने Parents से अपने बच्चों का प्यार, अपनी लाइफ पार्टनर का प्यार और end में अपने दोस्तों का प्यार...
Author Gary Chapman जो कि Marriage, Family और Relationship expert हैं वो बताते हैं कि हर इंसान के अंदर एक Emotional Love tank होता है, जो किसी और किसी चीज से नहीं बस उन कुछ खास लोगों के प्यार से भरता है .. जब तक वो प्यार उन्हें दिखता और मिलता रहता है तब तक वो Emotionally & Mentally stable रहते हैं. in short वो खुश रहते हैं .. But जब वो प्यार मिलना बंद होने लगता है तब वो Love tank खाली होने लगता है, तब इंसान Emotionally & Mentally unstable होने लगता है, उसे कुछ भी अच्छा नहीं लगता और वो frustrated होने लगता है.. और at the end जब टैंक पूरी तरह से खली हो जाती है तब Relationship में सारी बड़ी प्रोब्लम्स आने शुरू हो जाती हैं.. जैसे- लड़ाई, sadness और बाकी बुरी चीजें जो ज्यादातर प्यार को धीरे-धीरे खत्म कर देती है..और Relationship को भी..
हम सबको खुश रहने के लिए जरूरी है कि वो Emotional love tank थोडा तो हमेशा बना रहे पर Sadly आजकल ज्यादातर लोगों को वो प्यार मिल नहीं पाता जो वो Expect करते हैं.. अब इसका reason ये नहीं है कि वो खास लोग हमसे प्यार नहीं करते बल्कि एक सबसे बड़ा reason ये है कि ज्यादातर लोगों के प्यार की लैंग्वेज हमसे अलग होती है.. जो हमें समझ नहीं आती. और इसीलिए कभी हमें उनका प्यार feel नहीं हो पाता...
Example- हम सबकी एक Primary Mother language होती है जिसे हम अपनी mother tongue भी बोलते हैं ..जो हमें सबसे ज्यादा बोलने और समझने में comfortable लगती है.. हो सकता है कि हमें कोई दूसरी Secondary language भी आती हो जैसे- English, Marathi, Sanskrit पर still हमें सबसे ज्यादा अच्छे से ज्यादा समझ हमारी mother tongue ही आती है..
ठीक इसी तरह हम सबकी प्यार की भी अलग-अलग Primary language होती है. जो हमें सबसे ज्यादा अच्छे से समझ आती है. और यही primary language हमारे emotional tank को बहुत ही अच्छे से full कर सकती है..


प्यार की Total 5 Language होती है और अगर आप चाहते हैं कि आपका, आपकी family और पार्टनर के साथ relationship कभी खराब न हो और बस अच्छा होते जाए तो आपको इन 5 languages का पता होना चाहिए..
आपको पता होना चाहिए कि इन 5 languages में से आपकी वो कौन सी language है जो उनकी Primary language है.. जो उन्हें सबसे अच्छा फील कराती है .. और ये पता करने के बाद आपको उनकी language में ही अपना प्यार उनको एक्सप्रेस करना चाहिए..जिससे उनका वो इमोशनल टैंक भी हमेशा full रहेगा..
So Let's begin...


                             LOVE LANGUAGE NO.1    Words of Affirmation
एक Husband और Wife में बहुत झगडे होते थे, Husband अपने हिसाब से Wife को खुश करने के लिए सब कुछ करता था, वो मेहनत से काम करके wife को पैसे लाकर देता, कभी-कभी घर के काम करके वो अपने wife का हाथ बटा देता था, जिसके लिए उसकी wife हमेशा उसकी respect किया करती थी.. लेकिन इसके बाद भी Wife को यह feel नहीं हो पाता था कि उसका Husband उससे प्यार करता है . इस बात से husband को बहुत चिढ़ होती थी लेकिन यहाँ wife की कहीं गलती नहीं थी..  ये बात सच थी कि Husband सब कुछ करता था पर Problem ये थी कि वो अपनी wife को ये नही बोलता था कि वो उससे कितना प्यार करता है...क्यों पर करता है...
वो उसकी कभी तारीफ़ नहीं करता था, उसे लगता था कि ये सब चीजें फिल्मों में ही अच्छी लगती हैं पर real life में इन सब चीजों की जरूरत नहीं होती...
उसे लगता था कि main प्यार तो बस अपनी family के needs को पूरा करना होता है, जो कि वो हमेशा करता था..
अब ये बात इतनी ही stupid है जितना किसी मलयालम बोलने वाले इंसान को हिंदी में समझाने की कोशिश करना और फिर इस बात से गुस्सा भी होना कि आपके इतना अच्छा हिंदी बोलने के बाद भी वो बात उसे समझ क्यों नहीं आई...
Similarly सच तो ये था कि उसकी wife को प्यार feel करने और समझने के लिए वो बातें ही सबसे important थीं, उसकी wife की primary love language थी Words of Affirmation. पर उसका husband दूसरी ही language में उसका प्यार एक्सप्रेस कर रहा था..

Words of Affirmation मतलब अच्छी चीजें बोलना जो तुम्हारे Partner को build करे. और उसे अच्छा feel कराये.
example: I LOVE YOU बोलना..
क्यों तुम उन्हें इतना प्यार करते हो ये बताना..और उसे हमेशा ये बताते रहना.. बोलकर या लिखकर या कैसे भी करके.,,.
उन्हें Encourage करने वाली बातें बोलना, Compliments देना और उन्हें हर छोटी बड़ी बातों के लिए Appreciate करना..
जिन लोगों की ये Primary love language होती है उन्हें जब भी आप Words of Affirmation बोलेंगे उन्हें बहुत अच्छा feel होगा.. और तभी उन्हें आपका Real प्यार feel हो पायेगा.. पर जब तक आप उन्हें ऎसी सिम्पल सी बातें नहीं बोलते तब उन्हें आपका प्यार feel नहीं हो पायेगा..और न ही उनका love tank भरेगा..



                           LOVE LANGUAGE NO.2    Quality Time.
जिन लोगों की Primary love language ये होती है उन्हें यदि आप बोलोगे कि you look ब्यूटीफुल या बताओगे कि How much you love than.. तब उन्हें अच्छा तो लगेगा पर इससे उनको आपका real प्यार feel नहीं होगा!
बल्कि उन्हें वो प्यार फील होगा जब उनके साथ Quality time spend करोगे. और Quality time spend करने का मतलब यह नहीं कि बस एक ही घर में साथ रहकर कैसे भी करके टाइम स्पेंड कर देना, T.V. देखते-देखते बातें करना या मोबाइल पर लगे रहकर उनकी बातें सुनना. ये सब नही!
बल्कि Quality time means अपना पूरा Undivided Attention बस उनको देना, उनके साथ उस Movement में present होना..  बातें करना और वो चीजें करना जो उनको पसंद हो!
जैसे May be साथ में Cooking या Painting करना ...etc..
जब आप उनके साथ Quality time spend करेंगे तो उन्हें वो love feel होगा और तभी वो खुश रहेंगे...



                           LOVE LANGUAGE NO.3    Receiving Gifts

Gifts मिलना किसको पसंद नहीं है! पर जिन लोगों की Primary love language ये होती है वो आपसे ये Expect भी करते हैं कि आप कभी-कभी at least उन्हें एक Gift तो दो..
Gifts, actual में बहुत स्पेशल होते हैं क्योंकि ये सामने वाले को ये feel कराते हैं कि आप उनके बारे में सोचते हो और वो लेते टाइम भी आप उन्हीं के बारे में सोच रहे थे.. जब भी कभी वो आपका गिफ्ट देखेंगे उन्हें ये याद आएगा कि आपने उन्हें याद किया था जो कि बहुत ही अच्छी फीलिंग होती है उनके लिए..
अब अगर आप ये सोच रहे हो कि मैं कहाँ हमेशा गिफ्ट्स दे सकता हूँ, मेरी तो Financial condition अच्छी नहीं है ... तो पहली बात आपको किसी ने नहीं कहा कि गिफ्ट्स, महंगे होना जरूरी है या ऐसा कुछ...
Actual में लोगों को Love feel कराना आपकी सोच से कहीं सस्ता होता है कुछ चोकलेट, एक गुलाब का फूल या कोई सिम्पल सा कार्ड या कोई छोटी-मोटी गिफ्ट्स आपके पार्टनर का या फैमली मेंबर का पूरा दिन बना सकती है..
और अब यदि आप financial अच्छे हैं तो आप जरूर अच्छे गिफ्ट्स देना चाहिए लेकिन at the end आप ये याद रखें कि Gifts की Value पैसों से तौली नहीं जायेगी.. बल्कि उसके पीछे की फीलिंग्स ही होगी जो लोगों को खुश करेगी..
हमने बहुत बार देखा है कि सस्ते से गिफ्ट्स लोगों के बहुत पास होते हैं जिन्हें वो किसी महँगी गिफ्ट्स से ज्यादा संभाल कर रखते हैं.. और बहुत बार तो गिफ्ट्स का तो materialistic होना भी जरूरी नहीं.. कभी-कभी आपके टाइम और आपके Efforts ही उनके लिए गिफ्ट्स हो सकते हैं..
इसीलिए एक आदत बना लें और अपने उन खास लोगों को Special जिनकी love language ये है उन्हें तो at least छोटे-मोटे गिफ्ट्स देते रहो.. ये आपके Relationship बहुत स्ट्रोंग कर देंगे..



                           LOVE LANGUAGE NO.4    Acts of Service

पहली Language में हमने आपको Husband और wife कि स्टोरी बताई थी उसमें Husband अपनी Wife को उस language में अपना प्यार बताना चाह रहा था वो थी Acts of Service..   जिनकी Primary language ये होती है, वो बस इन बातों से खुश नहीं रहेंगे कि आप उनके लिए गिफ्ट्स लेकर आते हो या उनकी हमेशा तारीफ़ करते हो बल्कि आपको उन्हें आपके लिए real love तब feel होगा जब आप कुछ काम करके उन्हें अच्छा feel कराओगे..
उन्हीं कामों में उनकी हेल्प करोगे, घर की जिम्मेदारी को अच्छे से निभाओगे.. और जरूरत पड़ने पर जिम्मेदारियों को शेयर करोगे..
काम करने से तात्पर्य है जैसे - खाना बनाना, घर को साफ़ रखना, पैसे कमाकर देना, घर की जरूरतों को पूरा करना.. बच्चों की जरूरतों को पूरा करना... etc..

                           LOVE LANGUAGE NO.5    Physical Touch

आजकल हमारी Thinking इतनी खराब हो चुकी है कि Physical touch word सुनते ही ज्यादातर लोगों के मन में कुछ गलत वर्ड्स ही आये होंगे..इसीलिए हम पहले ही क्लियर कर देना चाहेंगे कि Sexual होना ही Physical touch नहीं होता... बल्कि ये एक Pure language है, अपने प्यार को दिखाने के लिए..
एक माँ को जब अपने बच्चों के ऊपर प्यार आता है तो वह अपने बच्चे को सीने से लगा लेती है जो कि एक Physical touch है
जब हम कुछ बुरा feel कर रहे होते हैं और जब कुछ बुरा होता है हमारे साथ तब हम अपने दोस्तों या चाहने वालों को Emotional होकर गले लगा लेते हैं.. Because तब हमें प्यार की जरूरत होती है.. और Physical touch एक बहुत ही स्ट्रोंग तरीका है प्यार Feel करने का...

इसी तरह जिन लोगों की Primary language ये होती है वो चाहते हैं कि आप उन्हें Hug करो, गले लगो, साथ में बैठकर टी.वी. देखना, हाथ पकड़कर घूमना ये सब चीजें भी आपका प्यार show कराएंगी..
कुछ बच्चे जिनकी Primary love language ये होती है उन्हें मारने से पहले पहले सौ बार सोचना चाहिए क्योंकि मारना भी एक Physical touch है..लेकिन एक Negative way में...जो उन्हें मानसिक रूप से बहुत ज्यादा डिस्टर्ब कर सकती है..

इसलिए पता करें कि ऊपर दिए गए 5 Primary Love language में आपके खुद की और अपने चाहने वालों की primary language क्या है और फिर उसी लैंग्वज में उन्हें प्यार फील कराओ.. ताकि उनका Emotional Love Tank भर सके.. कभी-कभी आप इन सब पांच Love language का use कर सकते हैं लेकिन आपको हमेशा सबसे ज्यादा अपने Primary love language का use करना चाहिए क्योंकि वही आपके Relationship को बहुत अच्छा रखेगा..



दोस्तों यह पूरी आर्टिकल एक बेहतरीन किताब  THE 5 LOVE LANGUAGES  से प्रेरित है जिसके Author
Gary D. Chapman हैं..
उम्मीद करते हैं कि यह आर्टिकल आपको पसंद आया हो और यह भी आशा करते हैं कि इन 5 LOVE LANGUAGES का Use आप अपनी Real Life में भी करेंगे...



कृपया इसका एनिमेटेड विडियो जरूर देखें ... और इस बेहतरीन  यूट्यूब चैनल को जरूर सबस्क्राइब कीजिये...


Labels: , , , ,